नाराज डीएम ने प्रभारी नर्स और स्टाफ नर्स पर कार्रवाई करने का आदेश दिया

कानपुर, तंबाकू उत्पादों के सेवन पर प्रतिबंध की जांच करने हैलट अस्पताल गई डीएम मरीजों की दयनीय हालत देख भड़क गई। वार्ड सात और आठ में बिना चादर के बेड पर मरीजों को देख उन्होंने अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक से नाराजगी जताई। वार्ड की स्टॉफ नर्स और नर्स पर कार्रवाई के आदेश दिए। पान की पीक को साफ कराने और मेडिकल वेस्ट का नियमित निस्तारण कराने को कहा।

बिना चादर के बेड देख तमतमाई डीएम
अस्पताल, स्कूल, बस स्टेशन आदि सार्वजनिक स्थलों पर धूमपान, तंबाकू, पान मसाला के सेवन और बिक्री पर प्रतिबंध है। इस प्रतिबंध का पालन हो रहा है या नहीं यह जांचने को डीएम डॉ. रोशन जैकब अस्पताल पहुंचीं तो उन्हें प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक के कमरे के पास, दीवारों पर कई जगह पान,गुटखे की पीक मिलीं। गुटखा के पाउच भी पड़े मिले। डीएम ने तुंरत सफाई कराने का आदेश दिया। कहा कि सेवन करने वालों पर कार्रवाई करें। वार्ड में जब पहुंचीं तो घाटमपुर निवासी अंकिता ने उन्हें बताया कि ज्यादातर दवाएं मेडिकल स्टोर से मंगवानी पड़ती है। कई अन्य मरीजों ने भी बाहर से दवा लाए जाने की शिकायत की। डीएम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जांच करने का आदेश दिया। वार्ड में बेडों पर चादर भी नहीं मिलीं।

जिलाधिकारी ने वहां मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों से बेडशीट के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि स्टोर से बेडशीट नहीं मिली है। डीएम ने पता कराया तो स्टोर में बेडशीट होने की बात सामने आई। नाराज डीएम ने प्रभारी नर्स और स्टाफ नर्स पर कार्रवाई करने का आदेश दिया। इमरजेंसी में रूई और अन्य मेडिकल वेस्ट गिरा देख उन्होंने नाराजगी जताई। इसके उपरांत उन्होंने झकरकटी बस स्टेशन का निरीक्षण किया और वहां भी कई जगहों पर पान की पीक उन्हें मिली। तंबाकू उत्पादों के सेवन पर प्रतिबंध संबंधी बैनर भी उन्होंने वहां लगवाया। उनके साथ सीएमओ डॉ.आरपी यादव, एडीएम सिटी अविनाश सिंह उपस्थित रहे।

Advertisements