गंगा बैराज पर सपनों की सिटी जमीन पर उतरने वाली है।

उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम (यूपीएसआईडीसी) की महत्वाकांक्षी हाईटेक सिटी योजना में अगले माह आवासीय भूखंडों का आवंटन किए जाने की तैयारी कर ली गयी है। पहले चरण में यहां 102.03 एकड़ क्षेत्रफल में दो सौ से तीन सौ वर्ग मीटर के 1968 प्लाट आवंटित किए जाएंगे। 20 जून तक इनकी दरों का निर्धारण हो जाएगा।

d3727गंगा बैराज पर 1151 एकड़ में प्रस्तावित ट्रांसगंगा हाईटेक सिटी का विकास चार जोन में किया जाना है। आवासीय, औद्योगिक, व्यावसायिक जोन के साथ यहां रीक्रिएशन जोन भी होगा। यूपीएसआईडीसी की तैयारी के मुताबकि अगले माह रीक्रिएशन जोन में लैंड स्केपिंग का काम शुरू किया जाएगा। इसे देखते हुए हाईटेक सिटी के किनारे बंधे पर करीब तीन किलोमीटर लंबाई में टिनशेड लगाया गया है, ताकि लोग भीतर प्रवेश न कर सकें और लैंड स्केपिंग के बाद होने वाले पौधरोपण को जानवर नुकसान न पहुंचा सकें। मौके पर बिजली के पोल लग चुके हैं, अब उन पर तार खींचने के साथ स्ट्रीट लाइट लगाने का चल रहा है, इसके साथ ही सड़कें भी बनाई जा रही हैं। यूपीएसआईडीसी के मुख्य अभियंता अरुण कुमार मिश्र के मुताबिक हाईटेक सिटी में आवासीय भूखंडों का आवंटन पहले चरण में किया जाना है इसलिए विकास कार्य भी वहीं तेजी से कराया जा रहा है। ले- आउट प्लान बन गया है। इसी माह प्लाट की दरों का निर्धारण करने के बाद अगले माह भूखंड आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

Advertisements