सीओडी क्रासिंग सात माह वन-वे

कानपुर : जीटी रोड स्थित सीओडी रेलवे क्रासिंग पर फोरलेन ओवरब्रिज बनाने के लिए रेलवे ने भी शुरुआत कर दी है। गुरुवार रात निर्माण स्थल के आसपास बेरीकेटिंग कर दी गई। गाजियाबाद की बीएम कंस्ट्रक्शन कंपनी ने जनवरी तक काम पूरा होने की बात कही है। इसके चलते अगले सात माह सीओडी क्रासिंग पर वन-वे यातायात चलेगा।

सीओडी क्रासिंग पर रेलवे ने दो लेन के पिलर बनाकर स्लैब डाली थी, लेकिन प्रोजेक्ट फोरलेन होने के बाद से रेलवे पर भी फोरलेन का काम शुरू करने का दबाव था। रेलवे ने दिल्ली-हावड़ा ट्रैक के ऊपर फोरलेन निर्माण कार्य के लिए यातायात विभाग से काम समाप्त होने तक ब्लाक मांगा था। रेलवे के हिस्से का काम गाजियाबाद की बीएम कंस्ट्रक्शन कंपनी करेगी। कंपनी रविवार से पिलर के गड्ढे खोदना शुरू करेगी। 3.5 करोड़ लागत से छह पिलरों पर पांच गार्टर रखकर स्लैब डालने का काम जनवरी तक पूरा होने की उम्मीद है।

 

रामादेवी से नहीं आएंगे वाहन

d2886एसपी यातायात लल्लन सिंह ने बताया रेलवे का काम पूरा होने तक सीओडी क्रासिंग पर यातायात का वन-वे संचालन होगा। टाटमिल से रामादेवी की तरफ जाने वाले निजी वाहन (स्कूटर, बाइक व कार) के साथ टेंपो का संचालन होता रहेगा। लेकिन रामादेवी से आने वाले सभी वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। ये वाहन श्यामनगर से सुजातगंज होते टाटमिल आ सकेंगे।

 

 

गोविंदपुरी समानांतर पुल के पिलर तैयार

d3946कानपुर : गोविंदपुरी समानांतर पुल के सभी पिलर लगभग बनकर तैयार हो गये है। पिलर तैयार होने के साथ उन पर स्लैब डालने की कार्य योजना भी सेतु निर्माण निगम ने तैयार कर ली है। इसके साथ ही रिटेनिंग वाल बनाने की तैयारी भी शुरु कर दी गई है। जिसके लिए अगले सप्ताह से काम शुरु हो जायेगा।

गोविंदपुरी समानांतर पुल का निर्माण करने वाली कंपनी ने फजलगंज और चावला मार्केट की तरफ के सभी पिलर तैयार कर लिये है। सेतु निर्माण निगम के मुताबिक पिलर पर काम पूरा होने के साथ ही रिटेनिंग वाल पर काम शुरु करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए इंजीनियर व निर्माण टीम संग बैठक कर कार्ययोजना पर बातचीत होगी।

समानांतर पुल को बनाने के लिए जो समय तय किया गया है। उसका खास ध्यान रखा जायेगा। तय समय पर काम खत्म करने की प्राथमिकता के चलते पिलर पर स्लैब डालने के साथ रिटेनिंग वाल पर भी अगले हफ्ते से काम शुरु करने का प्लान है। जिसके लिए बाहर से लेबर भी बुला ली गई है। दूसरी तरफ रेलवे ने भी सेतु निर्माण निगम के हिस्से के पिलर पूरा करने के साथ एक पर स्लैब डालने के चलते अपने पिलर बनाने का काम तेज कर दिया है। फजलगंज की तरफ अधूरे पिलर की ढलाई शुरु कर दी है।गोविंदपुरी समानांतर पुल पर डाली जा रही स्लैब।

GHTAMPUR BRIDGEघाटमपुर : हमीरपुर सीमा पर स्थित यमुना नदी का पुल गुरुवार देर शाम दोबारा क्षतिग्रस्त हो गया। पुल से वाहनों के गुजरने पर रोक लगा दी गई है। ओवरलोडिंग के चलते 19 जून को पिलर संख्या 16 व 17 के बीम व स्लैब क्षतिग्रस्त हो गई थी। प्रशासन व एनएचएआई ने भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगाने के साथ मरम्मत का जिम्मा पीएनसी कानपुर हाईवेज लिमिटेड को सौंपा था। प्रतिदिन 25 लाख रुपये टोल टैक्स की क्षति को देखते हुए कंपनी ने रिकार्ड 11 दिन में मरम्मत पूरी कर बुधवार दोपहर 2 बजे भारी वाहन चलाने को हरी झंडी दे दी थी। गुरुवार देर शाम पुल फिर क्षतिग्रस्त हो गया। यातायात डाइवर्ट कर दिया गया है। एसओ सजेती ने बताया कि एएसपी हमीरपुर से मिली सूचना के बाद हमीरपुर की ओर जाने वाले वाहन अलियापुर टोल के पास रोक कर डाइवर्ट किये जा रहे हैं। पीएनसी के वरिष्ठ प्रबंधक विनय वर्मा का कहना है कि इस बार पिलर संख्या 11 क्षतिग्रस्त हुआ है। आगरा से देर रात तक पहुंचने वाली कंपनी की टीम क्षति का आंकलन करेगी।

Advertisements