कार्तिक पूर्णिमाः लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई ‘आस्था की डुबकी’

ganga-snan_1479142154कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर कानपुर में सोमवार को लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा घाटों पर आस्था की डुबकी लगाई। स्नान-ध्यान का सिलसिला सुबह से ही शुरू हो गया। शहर के अलावा बुंदेलखंड, कानपुर देहात आदि जगहों से आए श्रद्धालुओं ने यहां स्नान किया। सरसैय्या घाट के पं. रमेश ने बताया कि भगवान शंकर ने राक्षस त्रिपुरासुर का इसी दिन वध कर गंगा स्नान किया था। इसके बाद से ही यह परंपरा चली आ रही है। गंगा स्नान करने दूर दराज से आए अधिकांश लोग खाना साथ लेकर आए थे। सभी ने गंगा किनारे एक साथ बैठकर खाना खाया। mela_1479142262

कार्तिक पूर्णिमा के उपलक्ष्य में गंगा घाटों के अलावा नदी किनारे मेलों का आयोजन किया गया। इस मेले में हजारों लोगो पहुंचे। इस हाईटेक युग में भी मेलों का क्रेज खत्म नहीं हुआ है लोग बड़ी संख्या में मेलों से खरीददारी कर रहे हैं।

देव दीपावली उत्सव पर सोमवार रात को शहर के घाट दीपों से जगमग हो उठे। शहीदों की याद में भी नेपाली घाट, मैस्कर घाट, गोलाघाट, गुप्तार घाट, परमट, मैगजीन, रानीघाट, अस्पताल घाट, गंगा बैराज, सिद्धनाथ घाट में दीप जलाए गए। मुख्य आयोजन सरसैय्या घाट सिविल लाइंस में हुआ। इसमें अपर जिलाधिकार अविनाश सिंह शामिल हुए। गंगा देव दीपावली समिति की ओर से 21 हजार दीपक जलाए गए।

kudyaghat

कानपुरः इस अंदाज से मनाया गुरुनानक देव महाराज का प्रकाशोत्सव, देखें तस्वीरें…

Advertisements