ये हैं आज से शुरू हुए आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे की खास बातें

agra-expressway-fullलखनऊ ।सोमवार को उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने ड्रीम प्रोजेक्‍ट आगरा-लखनऊ एक्‍सप्रेस वे का उद्घाटन किया। यह एक्‍सप्रेस वे देश का सबसे लंबा एक्‍सप्रेस वे है जिसे 13 हजार करोड़ से ज्‍यादा की लागत से बनाया गया है।

सोमवार को एक भव्‍य कार्यक्रम में इसे जनता को समर्पित किया गया। इस दौरान एयरफोर्स के फायटर जेट मिराज 2000 ने भी इस एक्‍सप्रेस वे पर टच डाउन करने के बलावा हवा में करतब दिखाए। इसे कुछ इस तरह बनाया गया है यहां इमरजेंसी में फायटर प्‍लेन लैंड और टेकऑफ कर सकते हैं।

  • इस एक्‍सप्रेस वे 13 हजार करोड़ की लागत से बनाया गया है।
  • एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिजवे का निर्माण 23 माह के रिकॉर्ड समय में किया गया है
  • एक्‍सप्रेस वे की सड़क की कुल लंबाई 370 किलोमीटर और चौड़ाई 110 मीटर है। इसके बनने के बाद लखनऊ और आगरा के बीच की दूरी काफी कम हो जाएगी।
  • यह एक्सप्रेस-वे आगरा को यूपी के उन्नाव, कानपुर, हरदोई, औरैया, मैनपुरी, कन्नौज, इटावा और फिरोजाबाद से जैसे शहरों से जोड़ेगा।
  • एक्सप्रेस-वे के रास्ते में गंगा समेत पांच नदियां भी पड़ेंगी और इन नदियों को पार करने के लिए 13 बड़े और 52 छोटे पुल व चार आरओबी बने हैं।
  • सड़क पर आवाजाही में कोई रुकावट न हो इसका विशेष ध्यान रखते हुए 132 फुट ओवरब्रिज और गांव व कस्बों की सुविधा के लिए 59 अंडरपास दिए गए हैं।
  • इसके अलावा खंभोली-कबीरपुर के बीच बनी 3 किमी लंबी हवाई पटटी के पास एक्सप्रेस-वे की सड़क को आने वाले समय में 12 लेन किया जाएगा।
  • सबसे बड़ी खासियत है कि आपात स्थिति मे हवाई पटटी पर जहाजों की लैंडिंग और टेकऑफ भी की जा सकेगी। इस दौरान दोनों ओर से ट्रैफिक भी चलता रहेगा।

21_11_2016_21_11_2016_agra_lucknow_expressway2साढ़े तीन घंंटे में पहुंच सकेंगे आगरा से लखनऊ

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के माध्यम से लखनऊ से आगरा की दूरी लगभग साढ़े तीन घंटे में तथा आगे दिल्ली तक की दूरी मात्र पांच से छह घंटे में तय की जा सकेगी। एक्सप्रेस-वे से यात्रा करने से समय में बचत के साथ-साथ वाहनों के इंधन की खपत में भी कमी आएगी।

23 माह के रिकॉर्ड समय में हुआ पूरा

प्रवक्ता ने बताया कि एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिजवे का निर्माण 23 माह के रिकॉर्ड समय में किया गया है।इसका काम जनवरी 2015 में शुरू हुआ था. एक्सप्रेस-वे आगरा से शुरू होकर फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई, कानपुर नगर तथा उन्नाव होते हुए लखनऊ तक पहुंचेगा।

11526.73 करोड़ की लागत, 3500 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण

एक्सप्रेस-वे परियोजना की खास बात है कि 10 जिलों के 232 गांवों में लगभग 3500 हेक्टेयर भूमि 30 हजार 456 किसानों से आपसी सहमति से बिना किसी विवाद के क्रय की गई है। इस जमीन के लिए किए गए भुगतान को छोड़कर परियोजना की लागत 11526.73 करोड़ रुपए है।

fighter-jet-expressway-mirage_650x400_81479723384आपात स्थिति में उतर और उड़ सकेंगे लड़ाकू विमान

प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के आपातकाल में ऑपरेशन के लिए एक्सप्रेस-वे पर देश के पहले एयर स्ट्रिप का भी निर्माण किया गया है। एक्सप्रेस-वे के किनारे जनपद मैनपुरी तथा कन्नौज में अति विशिष्ट मंडियों की स्थापना की जा रही है। उद्घाटन कार्यक्रम में 11 लड़ाकू विमान यहां लैंडिग और टेकऑफ करेंंगे।

Advertisements