गंगा के सभी घाट चमाचम होंगे

ganga-ghatनमामि गंगे योजना के तहत घाटों का सौंदर्र्यीकरण कार्य की गुरुवार से ही शुरू हो गया। वैदिक मंत्रों के बीच पूजा-अर्चना के साथ सरसैया घाट में काम शुरू हुआ। गुप्तार, परमट, मैगजीन घाट में भी काम शुरू हो गया। एक हफ्ते बाद बिठूर से जाजमऊ तक के घाटों का भी काम शुरू हो जाएगा।सरसैया घाट में सुबह 10 बजे के बाद नगर आयुक्त उमेश प्रताप सिंह और निर्माण एजेंसी के प्रबंधकों की टीम पहुंची। घाट पर मंत्रोच्चार के बीच पूजन के बाद नारियल फोड़ा। नारियल फोड़ने के साथ ही घाट की सीढ़ियों का काम शुरू हो गया। घाट पर बालू मिट्टी बिछाने के साथ पत्थर लगाने का काम शुरू हुआ। नगर आयुक्त ने वहां मौजूद भक्तों से कहा कि गंगा को स्वच्छ रखने के लिए सहयोग करें । साथ ही सभी को जीवनदायिनी मां गंगा की सेवा करनी होगी। नमामि गंगे समिति के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्रीकृष्ण दीक्षित बड़े जी ने बताया कि सभी घाटों का काम एक हफ्ते में शुरू हो जाएगा। इंजीनियर्स इंडिया के प्रमुख आर.के.सिंह ने उपस्थित लोगों को धन्यवाद दिया। निर्माण कार्य कंपनी के प्रमुख रमन शर्मा, प्रवीन राना ने नगर आयुक्त को कार्य के बारे में जानकारी दी।इस मौके पर सुजीत चंदेल, विवेक मिश्र, मनीष वाजपेयी, अनूप चौधरी, अनुराग तिवारी, सौरभ शुक्ला, ाषि तिवारी, बल्लू दीक्षित आदि मौजूद रहे।

नमामि गंगे योजना के तहत घाटों का सौंदयीकरण कार्य की गुरुवार से ही शुरू हो गया।

कानपुर। कैंट में गुरुवार को गोलाघाट बस्ती पर स्वच्छता अभियान चलाया गया। क्षेत्रीय लोगों ने घाट के किनारे मूर्ति विसर्जन को खोदे गए कृत्रिम तालाब में कूड़ा डंप करने पर विरोध जताया। स्वच्छता अभियान के तहत कैंट क्षेत्र की बस्तियों में अभियान शुरू किया गया है। गोला घाट के पास स्थित छावनी परिषद के स्कूली बच्चों ने सफाई अभियान शुरू किया। नागरिक कल्याण समिति के महामंत्री रमेश निषाद ने बताया कि गोला घाट बस्ती में नाले की सफाई भी अभियान के तहत होगी। इस मौके पर पार्क में हुई बैठक में कृत्रिम तालाब में गंदगी से बीमारी की आशंका जताई गई। वहीं अब कूड़ा भरा जा रहा है। नगर निगम ने सुनवाई नहीं की। कैंट बोर्ड से कहा गया है।

d131721124

Advertisements