कानपुर में व्यापारियों का हल्लाबोल, नहीं सहेंगे उत्पीड़न

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल (श्याम बिहारी गुट) के बैनर तले शुक्रवार को व्यापारियों ने कई मुद्दों पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया। घंटाघर से उठा व्यापार मंडल का जुलूस कई बाजारों से होता हुआ कलेक्ट्रेट पहुंचा। वहां प्रदेश अध्यक्ष की अगुवाई में मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा गया। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि व्यापारियों का उत्पीड़न किसी हाल में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष श्याम बिहारी मिश्रा ने बताया कि मंडी समिति का उद्देश्य अब पूरा हो गया है। मंडी अधिनियम के अनुसार न माल की छनाई होती है और न ही ग्रेडिंग। मंडियों में किसानों का माल भी कम आ रहा है। छोटे व्यापारी माल ज्यादा ले रहे हैं। मंडी समिति अब भ्रष्टाचार का अड्डा बन गई है। इसलिए मंडी शुल्क अब खत्म किया जाए।

kanpur-09-12-2016-1481290815_storyimageप्रदेश के सभी सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार चरम पर है। बिना सुविधा शुल्क के किसी विभाग में काम नहीं होता है। इसे रोकने में प्रदेश सरकार विफल साबित हुई है। इसके साथ ही बढ़ती ठंड में व्यापारियों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाए। घंटाघर से उठा जुलूस नयागंज होते हुए जनरलगंज पहुंचा, यहां व्यापारियों ने जुलूस का स्वागत फूल बरसाकर किया। इसके बाद हटिया, मूलगंज, मनीराम बगिया, मेस्टन रोड शिवाला होते हुए जुलूस कलेक्ट्रेट पहुंचा। इस मौके पर चेयरमैन मणिकांत जैन, अध्यक्ष विजय पंडित, महामंत्री विनोद गुप्ता, विजय गुप्ता, आशीष मिश्रा, कृपाशंकर त्रिवेदी, राजेश गुप्ता, राकेश सिंह, दीपक अग्रवाल, मुकुंद मिश्रा, सत्यप्रकाश जायसवाल, संत मिश्रा, निर्मल त्रिपाठी, मुन्ना कामरेड, महेश गुप्ता, धीरज शाह, योगेश गुप्ता, हिमांशु पाल, सीपी ओमर, अचल गुप्ता, राजीव मेहरोत्रा, प्रवीण आनन्द, गोपाल तिवारी, अरुणेश बाजपेई, नटवर मिश्रा, गोपी श्रीवास्तव, नटवर मिश्रा, हर्षित बाजपेई, राजू खण्डूजा, रोशनलाल अरोड़ा आदि रहे।

प्रदेश युवा चेयरमैन के बेटे ने संभाली कमान

उत्तर प्रदेश युवा के चेयरमैन राजीव आनंद के न आने के चलते उनके बेटे दिव्यांश आनन्द ने पिता का फर्ज निभाया। पूरे जुलूस में कम उम्र के युवा के विरोध करने का अंदाज सबसे निराला रहा। बुलट में अपने युवा साथियों के साथ विरोध स्वरूप लिबास पहनकर अपनी धमक बनाई।

गुटबाजी भूल व्यापारी आए आगे

उद्योग व्यापार मंडल और किराना बाजार की दो सालों से चली आ रही तल्खियां खत्म होने लगी हैं। ऐसा बाजार में जुलूस निकलने के दौरान दिखाई दिया। किराना मर्चेंट के महामंत्री विजय अग्रवाल, अनूप झामटानी और अलंकार ओमर ने प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत माला पहनाकर किया।

ये हैं प्रदेश और केन्द्र सरकार से प्रमुख मांगें

विदेशी और देसी दालों से हटाया जाए मंडी शुल्क

छोटे नोटों की उपलब्धता बड़ी मात्रा में बजार में की जाए

व्यापारियों के लेनदेन के लिए लगाए जाएं काउंटर

चेकिंग के नाम पर बंद हो व्यापारियों का उत्पीड़न

केस्को के सभी तरह के सरचार्ज बंद हो, ताकि सुविधा शुल्क से राहत मिले

Advertisements