नोटबंदी से परेशान बैंक कर्मचारी 28 दिसबंर को करेंगे पूरे देश में विरोध प्रदर्शन

bank-pti-0-0-0-0-0-0-0-0नोटबंदी के बाद बैंकों और उनके कर्मचारियों को आई दिक्कतों के मद्देनज़र बैंक एसोसिएशन ने 28 दिसंबर को नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

ऑल इंडिया बैंक एम्पलॉयज एसोसिएशन और ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन ने मिलकर नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन करने का फैसला लिया है। प्रदर्शन के बाद यूनियनें 29 दिसंबर को वित्त मंत्री अरुण जेटली को इस बाबत पत्र देंगी। बताया जा रहा है कि यूनियन के सदस्य 2 और 3 जनवरी, 2017 को भी प्रदर्शन करेंगे।

एआईबीईए के महासचिव सीएच वेंकटचलम और एआईबीओए के महासचिव एस नागराजन ने बयान में कहा कि हमारी इकाइयों ने सभी प्रमुख केंद्रों पर विरोध प्रदर्शन की तैयारी शुरू कर दी है। हम रिजर्व बैंक के स्थानीय अधिकारियों से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौपेंगे।

यूनियनों की मांग है कि सभी बैंकों और शाखाओं को करंसी की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जाए और सभी एटीएम में पैसा डाला जाए। इसके अलावा बैंकों को दी जाने वाली नकदी को लेकर पारदर्शी नीति बनाई जाए।

अब बीजेपी सांसद किरण खेर बोली, नोटबंदी सही नहीं इससे आमलोग परेशान है

kiran-kherनई दिल्ली। नोटबंदी के मुद्दे पर विपक्ष के सुर से सुर से मिलाते हुए चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद किरन खेर ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। किरन खेर ने कहा कि नोटबंदी से सबको परेशानी हो रही है।

चंडीगढ़ में नगर निगम चुनाव में वोटिंग के दौरान किरन खेर ने कहा, ‘’नोटबंदी से कारोबारियों को तकलीफ है। उन्होंने कहा कि सिर्फ कारोबारियों को ही नहीं बल्कि हम सबको इससे तकलीफ है।’’ हालांकि उन्होंने इस बात का भी ज़िक्र किया कि देश की भलाई के लिए कभी-कभी तकलीफ सहनी पड़ती है।

ग़ौरतलब है कि किरण खेर का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों के हवाले यह काम सौंपा है कि वह अपने अपने लोकसभा क्षेत्रों में जाकर नोटबंदी के पक्ष में माहौल बनाएं।

पीएम मोदी के फरमान को मुंह चिढ़ाता हुआ किरन खेर का यह बयान बीजेपी के लिए नई मुसीबतें ज़रूर खड़ी कर सकता है।

Advertisements