36 घंटे बाद दिल्ली-हावड़ा रूट पर दौड़ीं ट्रेनें

रूरा में ट्रेन हादसे के बाद बाधित दिल्ली-हावड़ा रूट 36 घंटे बाद चालू कर दिया गया। मेंटीनेंस के बाद गुरुवार शाम 4:56 पर डाउन मार्ग से मालगाड़ी को सबसे पहले निकाला गया। यहां 10 किलोमीटर प्रति घंटे का काशन रहा। मालगाड़ी के एक-एक वैगन पर जीएम से लेकर डीआरएम तक की निगाहें लगी रहीं। इसके बाद सियालदह-हावड़ा राजधानी को निकाला गया। हालांकि दुर्घटनास्थल पर राहत कार्य अभी भी जारी है। रेलवे अफसरों का दावा है कि शुक्रवार को अप लाइन भी चालू कर दी जाएगी। ट्रैक क्लीयर होने के बाद निरस्त की गईं मुरी, गोमती एक्सप्रेस सहित पांच ट्रेनों को गुरुवार को ही चला दिया गया। वहीं, 67 ट्रेनें बदले रूट से तो 49 निरस्त रहीं। एनसीआर के पीआरओ मंजर कर्रार ने लाइन चालू होने की पुष्टि करते हुए बताया कि रेल हादसे से कई मीटर तक ट्रैक और ओएचई लाइन डिस्टर्ब हो गई थी। इसके बावजूद एक लाइन को 36 घंटे में फिट कर ट्रेन भी निकाल दी गई। दुर्घटना के बाद से जीएम अरुण सक्सेना, डीआरएस एसके पंकज, एडीआरएम द्विवेदी इंजीनियरिंग और मैकेनिकल स्टाफ के साथ डेरा जमाए हुए थे। दिन-रात काम के चलते ट्रैक समय से पहले ही शुरू हो गया। अभी भी एक टीम अप लाइन को फिट करने में जुटी है। कई सौ मीटर तो नया ट्रैक बिछाया जा चुका है और बचा हुआ काम भी कराया जा रहा है। उधर, इलेक्ट्रिक स्टाफ ओएचई दुरुस्त करने में लगा रहा।

d148683788

Advertisements