दस छात्र-छात्राएं बने टेककृति ओपेन स्कूल चैंपियन

08_01_2017-8kan-409-c-2कानपुर : आइआइटी की टेककृति ओपेन स्कूल चैंपियनशिप में देश भर से चुनकर आए छात्र-छात्राओं के विचारों के बीच रविवार को जबरदस्त मुकाबला हुआ। 22 शहरों से चुने गए सौ छात्र छात्राओं में दस को टेककृति टेक्निकल फेस्ट में शिरकत करने के लिए चुना गया। दो पूल के अंतर्गत आयोजित की गई इस प्रतियोगिता में कक्ष नौ से दस के छात्र-छात्राओं को पूल ए व 11वीं व 12वीं के छात्र-छात्राओं को पूल बी में शामिल किया गया।

पूल ए के विजेताओं में दिल्ली की अस्मिता, जयपुर के सिद्ध, कोटा के दर्शन ललित लोधा, इंद्रौर के उत्कर्ष जैन व प्रिया अग्रवाल रहीं। पूल बी में कोयट्टम के श्रीनाथ बी, लखनऊ के उत्सव मुनेंद्र व तर्ष मनोहर, कंजिरापल्ली की हेलन इल्मा मैथ्यू व कानपुर के संजय जोसफ चैको शामिल हैं। सौ छात्रों ने अपने चुने गए आइडिया पर प्रेजेंटेशन दिया। इनमें शिक्षा, नोटबंदी, आरक्षण व महिला जागरूकता समेत अन्य विषय शामिल थे। दोनों पूल के टॉप-5 विजेताओं को 23 से 26 मार्च को आइआइटी में होने वाले टेककृति टेक्नोफेस्ट में शिरकत करने का मौका मिलेगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर होंगे। पहले विजेता को लैपटॉप, दूसरे को ईबुक, तीसरे को आइपैड, चौथे व पांचवें विजेता को पुरस्कारस्वरूप रिस्ट वॉच व बैग प्रदान किया गया। सभी सौ प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र व टीशर्ट दिए गए। इस दौरान बच्चों ने आइआइटी के एयरोस्पेस साइंस समेत अन्य विभागों का भ्रमण किया।

d6620

आइआइटी में प्रवेश की तैयारी स्कूलों में हो :

वाराणसी के सनबीम स्कूल में 11वीं कक्षा की छात्रा श्रेयांशी ने अपना आइडिया आइआइटी की ऐसी तैयारी पर दिया था जो छात्रों को स्कूल में कराई जानी चाहिए। कोचिंग सेंटर से दूर छात्र अपनी तैयारी कर सकें। सेंटर थॉमस किदवई नगर में कक्षा 10 की छात्रा सारा श्रीवास्तव ने छात्रों की काउंसलिंग पर अपना आइडिया प्रस्तुत किया। उनका आइडिया यह था कि शिक्षक के साथ अभिभावकों को भी अपने बच्चों की काउंसलिंग करनी चाहिए जिससे वे तनाव मुक्त रह सकें। सिटी मोंटेसरी स्कूल लखनऊ से 11वीं का छात्र तर्ष मनोहर जो कि पूल बी के तीसरे विजेता था उसका आइडिया आरक्षण पर था। बताया कि इसमें बदलाव की जरूरत है।

 

Advertisements