कंपनीबाग चौराहे पर खोदाई ने राह फंसाई

d3682कानपुर : विष्णुपुरी से कंपनी बाग चौराहे तक डाले गए घटिया पाइप की जगह अब लोहे के पाइप डाले जा रहे हैं। दूसरी तरफ से आ रही चार पाइप लाइनों को लोहे के पाइप से जोड़ने के लिए गुरुवार को कंपनी बाग चौराहा खोद दिया गया। बेतरतीब खोदाई से चौराहे पर मिट्टी फैल गई, जिससे कई वाहन सवार गिरकर चुटहिल हो गए। साथ ही पुरानी लाइन में लीकेज होने से चौराहे पर पानी भर गया।गुरुवार दोपहर कंपनी बाग चौराहे पर सीएसए गेट के पास पाइप डालने के लिए खोदाई शुरू कर दी गई। खोदाई के दौरान निकली मिट्टी सड़क पर फैल गई। साथ ही लीकेज होने से चौराहे पर पानी भर गया। लोगों को यहां से निकलने के लिए जूझना पड़ा। पानी होने के कारण सड़क पर फैली मिट्टी कीचड़ में तब्दील हो गई, जिसमें फिसलकर कई वाहन चालक चुटहिल हो गए।

d3320यह हो रहा काम : विष्णुपुरी से कंपनी बाग चौराहे तक टेस्टिंग के दौरान पाइप लीकेज पाए गए थे। इस मामले का खुलासा  किया तो जांच शुरू हुई। इसके बाद दो करोड़ रुपये से विष्णुपुरी से कंपनी बाग चौराहे तक पांच सौ मीटर पाइप को बदलकर लोहे के पाइप डालने का ठेका टायरस कंपनी को दिया गया। घटिया पाइप देने वाली कंपनी विचित्र व डालने वाली कंपनी कोनार्क का भुगतान व जमानती धनराशि रोक दी गई थी। दिसंबर से कंपनी पाइप डाल रही है। कंपनी बाग चौराहे पर रावतपुर, लक्ष्मण बाग, वीआइपी रोड व विष्णुपुरी की तरफ से पानी के पाइप आ रहे है। विष्णुपुरी से आ रहे लोहे के पाइप से जोड़ा जाना है।विधान सभा चुनाव तक शहर में कहीं भी नई पाइपलाइन डालने के लिए जल निगम खुदाई नहीं कर पाएगा। नगर निगम ने फिलहाल किसी तरह की अनुमति देने से साफ इनकार कर दिया है। इसके पीछे आचार संहिता, मतदान केंद्रों तक लोगों के पहुंचने में दिक्कत बताई जा रही है। जल निगम ने जेएनएनयूआरएम के तहत पुरानी पाइप लाइनों से अमृत योजना के लिए नई पाइप लाइनों से कनेक्शन के लिए मैकराबर्टगंज और परमट समेत कई इलाकों में खुदाई की अनुमति मांगी थी। गुरुवार को नगर निगम के मुख्य अभियंता मनीष कुमार सिंह ने स्पष्ट कर दिया कि यह जनहित का काम जरूर है मगर मतदान के पहले इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती। नगर निगम के मुख्य अभियंता मनीष कुमार सिंह का कहना है कि शहर में लीकेज या पाइप लाइन फटने जैसी समस्याओं को खुदाई की अनुमति रहेगी इसके बिना पब्लिक का काम नहीं चलेगा।

d3286लाल इमली से फूलबाग तक हटेंगे खंभे और तार

सीएम की ड्रीम रोड से जल्द ही झूलते तार और खंभे हट जाएंगे। दरअसल, केस्को लालइमली से फूलबाग तक ओवरहेड लाइनों को अब भूमिगत करने जा रहा है। यह काम दिल्ली की सुमाजा कंपनी करेगी। इसके लिए नगर निगम ने एनओसी जारी कर दी है। छह महीने में अंडरग्राउंड केबिल बिछाने का काम पूरा हो जाएगा। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ड्रीम रोड नरोना से गोल चौराहे तक है। अब शहर की इस लाइफ लाइन को केस्को चकाचक करने जा रहा है। इसके लिए लालक्ष्मली से फूलबाग तक भूमिगत केबिल बिछाने की तैयारी हो रही है। एनओसी के लिए केस्को अफसरों ने नगर निगम को 48 लाख रुपए दे दिया है। केस्को को एनओसी मिल गई है। एक हफ्ते में कंपनी काम शुरू कर देगी। केस्को के डायरेक्टर टेक्निकल राधेश्याम ने बताया कि 18 करोड़ रुपए से फूलबाग से लालक्ष्मली तक की लाइनें भूमिगत होंगी। इससे सड़क की काफी जगह खाली हो जाएगी।

Advertisements