आम रहा रेल बजट, ना कोई नई ट्रेन, ना ट्रेन किराए बदले

railway-flyover

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मोदी सरकार का चौथा बजट पेश किया। 93 सालों की परंपरा को तोड़ते हुए इस बार रेल बजट भी आम बजट का हिस्सा बनाकर ही प्रस्तुत किया गया। मगर आम बजट के साथ प्रस्तुत होने पर कहीं न कहीं रेल बजट का अस्तित्व गुम होता नजर आया। वित्त मंत्री ने रेल बजट में किसी भी रूट के लिए नई ट्रेन की घोषणा नहीं की। ना ही वित्त मंत्री ने रेल किरायों को लेकर इसमें कोई बात की। हर बार रेल यात्रियों को रेल बजट से जो उम्मीदें रहती हैं वो भी इस बार टूटती नजर आई। इस बार बजट में रेल यात्रियों को किराए में छूट जैसी कोई घोषणा भी नहीं की। राहत की बात यह है कि किरायों में किसी तरह की कोई बढ़ोतरी भी नहीं की गई है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल बजट को कुछ ही मिनटों में समेट दिया।
रेल सरंक्षण कोष के लिए 1 लाख करोड़
इस बार का रेल बजट पिछले के मुकाबले 22 फीसदी बढ़ा है। वित्त मंत्री ने रेलवे की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए 1 लाख करोड़ रुपए के रेल संरक्षा कोष की घोषणा की। उन्होंने कहा कि रेलवे विभाग दूसरे तरीकों से भी फंड इक_ा करेगा। रेल मंत्रालय रेल हादसों को रोकने और रेलवे ट्रेक के हालात सुधारने के लिए इस सरंक्षा कोष का इस्तेमाल करेगा। जेटली ने कहा कि 2020 तक मानव रहित क्रासिंग पूरी तरह खत्म हो जाएगी। वित्त मंत्री ने अपने बजट में रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़ देने की घोषणा की है। विकास के लिए देशभर में से 25 स्टेशनों का चयन किया गया है। रेलवे में स्वच्छता, सुरक्षा पर जोर दिया जाएगा।
2019 तक सभी ट्रेनों में होंगे बॉयो टॉयलेट
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल बजट के अंतर्गत घोषणा की कि इस वित्तीय वर्ष में सरकार नई मेट्रो रेल नीति लागू करेगी। साथ ही करीब 3500 किलोमीटर तक नई रेल लाइनें बिछाई जाएंगी। पर्यटन और धार्मिक स्थलों के लिए विशेष ट्रेनों की शुरुआत होगी। 2019 तक सभी ट्रेनों में बॉयो टॉयलेट बना दिए जाएंगे। 500 रेलवे स्टेशनों को दिव्यांगों के लिए सुविधाजनक बनाया जाएगा। इन सभी रेलवे स्टेशनों पर लिफ्ट और एक्सलेटर की सुविधा दी जाएगी। 7000 रेलवे स्टेशनों पर सौर ऊर्जा की सुविधा दी जाएगी।
ई टिकट अब नहीं भरना होगा सर्विस टैक्स
रेल बजट में भी वित्त मंत्री ने डिजिटल ट्रांजेक्शन को प्रमोट करने की बात कही है। अरुण जेटली ने कहा कि ई टिकट पर सर्विस टैक्स नहीं लगाया जाएगा। आईआरसीटीसी पर रेलवे टिकट बुक करवाने पर भी किराए में छूट मिलेगी। आईआरसीटीसी भी अब शेयर बाजार का हिस्सा होगी। इसके साथ ही रेलवे से जुड़ी तीन कंपनियां शेयर बाजार में शामिल होंगी। रेलवे क्लीन माई कोच सेवा भी शुरू करेगी। कोच की शिकायतों के लिए कोच मित्र योजना लाई जा रही है।
Advertisements