कानपुर जू की ये बढ़ाएंगे रौनक, त्रुशाबाघिनने तीन शावकों को दिया जन्म

कानपुर। शहर के जू के लिए शुक्रवार का दिन बहुत खास रहा क्योंकि यहां पर त्रुशा नाम की बाघिन ने पहले दो और आज शनिवार को एक शावक को जन्म दिया। जू के डॉक्टर यूजी श्रीवास्तव ने बताया कि अभी भी बाघिनके गर्भ में एक और शावक हो सकता है। बाघिनअपने बाड़े में बने प्रसूति गृह में है। श्रीवास्तव के मुताबिक जब सारे बच्चे जाएंगे तो त्रुशा अपने बाड़े से खुद बाहर आ जाएगी। बाघिन की निगरानी सीसीटीवी कैमरे के जरिए की जा रही है। वहां पर किसी को जाने नहीं दिया जा रहा है।
लंबी चलती है प्रजनन प्रक्रिया
डॉक्टर यूजी श्रीवास्तव ने बताया कि बाधिन के प्रजनन की प्रक्रिया लंबी होती है। बाघिन कई घंटे बाद दूसरे बच्चे को जन्म देती है। त्रुशा का जब चेकअप किया गया था तो जो जानकारी निकली उसके मुताबिक वह अभी भी एक शावक को और जन्म दे सकती है। हलांकि अभी कितने शावकों को उसने जन्म दिया, उसकी सही जानकारी हम लोगों के पास नहीं है। सीसीटीवी फुटेज से धुंधली तस्वीर मिली है, उससे अनुमान लगाया जा रहा है कि शुक्रवार को त्रुशा ने दो और आज एक शावक को जन्म दिया है। पूरी स्थित रविवार तक ही साफ हो पाएगी।
चौथी बार त्रुशा बनी मां
त्रुशा का जन्म ही कानपुर जू में हुआ था और इसके साथ प्रशान्त नाम के बाघ को रखा गया था। इन शावकों को पिता प्रशान्त है। डॉक्टर श्रीवास्तव के मुताबिक त्रुशा चौथी बार मां बनी है। इससे पहले उसने बादशाह नाम के बाघ को जन्म दे चुकी है। बादशाह को 2016 में रायपुर जू में भेजा जा चुका है। 2015 में त्रुशा ने बादल बाघ और बरखा बाघिन को भी जन्म दिया था। यह दोनों अभी भी जू में ही हैं। साथ इस समय जू में सा बाधा हैं, जिनमें चार नर व तीन मादा हैं।
दो दिन बाद नंदनी भी बन सकती है मां
जू के बाड़े में एक और नंदनी नाम की बाघिन गर्भवती है। उसे भी प्रजनन गृह में मेडिकल चेकअप के बाद रखा गया है। नंदनी ने गर्भास्था का 105 दिन का समय पूरा कर लिया है। डॉक्टर श्रीवास्तव ने बताया कि ह आज या कल में शावकों को जन्म दे सकती है। नंदीनी के गर्भ में भी दो से ज्यादा शावक होने के अनुमाल लगाया जा रहा है।
Advertisements