शहर की गड्ढामुक्त सड़कों में झोल ही झोल

कानपुर : केबिल लाइन डालने को केस्को की निर्माण एजेंसी एलएंडटी ने कंपनी बाग से गंगा बैराज तक के बाशिंदों को हादसे के मुहाने पर ला खड़ा किया है। सड़क की बेतरतीब खोदाई से हुए गड्ढे बारिश के पानी से भरने के बाद दुर्घटनाओं के सबब बनेंगे। खोदाई में गड्ढों के आसपास अभी तक न तो बैरीकेडिंग की गई है और न ही सावधानी के बोर्ड लगाए गए हैं। खोदाई में निकली मिट्टी पूरी सड़क में फैलाने के साथ ही जल निकासी के लिए बनी नालियों को भी बंद कर दिया है। मकानों के आगे मिट्टी के ढेर व ईंटे लगा देने से वाहन निकालना तक मुश्किल हो गया है। फैली मिट्टी व बंद जल निकासी से बारिश में यह सड़क जानलेवा बन जाएगी, जिससे इस पर चलना मुश्किल हो जाएगा। इस बार जलनिकासी भी बंद कर दी गई है। खुदे पड़े गड्ढे, फैली मिट्टी, जगह-जगह फैले केबिल व उनके बंडल ने रास्ता रोक रखा है। वाहनों के निकलने से उड़ती धूल के चलते लोग घरों में कैद से हो गए हैं, धूल अंदर न आ सके इसके लिए दरवाजे खिड़की बंद रखने की भी मजबूरी है। आठ साल से खोदाई का दर्द ङोल रहे यहां के लोगों को नाली व सड़क बनना शुरू होने से थोड़ी राहत मिली थी पर बिना अनुमति के केस्को की निर्माणाधीन कंपनी ने कंपनी बाग से बैराज जाने वाली सड़क को खोद डाला। दोपहर में धूल के गुबार से वाहन चलाना दूभर हो जाता है।

Advertisements