कानपुर को मिली एक और उपलब्धि, फील्ड गन फैक्ट्री व ओएफसी टॉप-10 में शामिल

आयुध निर्माणी बोर्ड की ओर से क्वालिटी ऑफ प्रोडक्ट और सर्विस को ध्यान में रखकर जारी की गई सूची में कानपुर स्थित फील्ड गन फैक्ट्री और ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कानपुर (ओएफसी) ने टॉप 10 में जगह बनाई है। फील्ड गन फैक्ट्री को चौथा और ओएफसी को आठवां स्थान मिला है।

बोर्ड की ओर से 8 जुलाई को जारी सूची में सभी 41 निर्माणियों को अंक दिए गए थे। फील्ड गन को 76.20 और ओएफसी को 70.40 अंक मिले हैं। इन दोनों निर्माणियों में बोफोर्स, धनुष, शारंग तोप के अलावा टी-72, टी-90, टी-92 टैंक की बैरलों का निर्माण होता है। फील्डगन में नौ सेना के लिए भी उत्पाद बनाए जाते हैं। यहां पर बनी धनुष और शारंग तोप को सेना में शामिल किया गया है। इन दोनों तोपों के बड़े स्तर पर उत्पादन की भी हरी झंडी मिल चुकी है।

बोर्ड के सूत्रों ने बताया कि सभी 41 निर्माणियों की सूची जारी की गई है। देश की सेनाओं में इस्तेमाल आने वाले इन उत्पादों के अलावा कुछ छोटे देशों को निर्यात होने वाले उत्पादों की प्रशंसा को भी इस सूची को तैयार करने में आधार बनाया गया है।

टॉप टेन में आंध्र प्रदेश की अवाड़ी को पहला (88.60), आर्डनेंस फैक्ट्री देहरादून को दूसरा (81.60), आर्डनेंस फैक्ट्री चंडीगढ़ को तीसरा (77.60), कानपुर की फील्ड गन फैक्ट्री को चौथा (76.20), आर्डनेंस फैक्ट्री इटारसी महाराष्ट्र को पांचवां (75.00), आर्डनेंस फैक्ट्री मेंडक आंध्र प्रदेश को छठवां (72.60), आर्डनेंस फैक्ट्री भंडारा महाराष्ट्र को सातवां (71.80), आर्डनेंस फैक्ट्री कानपुर ओएफसी को आठवां (70.40), हैवी व्हीकल फैक्ट्री अवाड़ी आंध्र प्रदेश को नौवां (70.20) और देहारादून स्थित ओएलएफ को दसवां (67.40) स्थान मिला है। कानपुर स्थित ओपीएफ को 38.80 अंक मिले हैं। नीचे से पांच निर्माणियों में ओपीएफ का नाम है।