कानपुर: पांच करोड़ रुपये से मंधना-बिठूर रेल लाइन का होगा विद्युतीकरण, सर्वे हुआ पूरा

कानपुर के बिठूर से मंधना के बीच आमान परिवर्तन के बाद भी ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं किया गया है। क्यों कि रेलवे साढ़े आठ किलोमीटर के इस रेलखंड पर पहले विद्युतीकरण कराना चाहता है। इसके बाद ही ट्रेनों का संचालन होगा। विद्युतीकरण कराने की टेंडर प्रक्रिया के बाद इलाहाबाद की एक कंपनी ने इसका सर्वे भी कर लिया है।

करीब पांच करोड़ रुपये से इस रूट का इलेक्ट्रिफिकेशन होगा। हर दस मीटर पर ओएचई के लिए खंभे गाड़े जाएंगे। 700 खंभे लगाकर साढ़े आठ किलोमीटर के इस रूट का विद्युतीकरण होगा।

रेलवे के सीपीआरओ ने बताया कि इस काम के बाद कानपुर और फर्रुखाबाद रेलखंड से इसे जोड़ने में आसानी होगी। क्योंकि यहां का विद्युतीकरण का काम अंतिम चरण में है। कल्याणपुर रेलवे स्टेशन से कन्नौज तक इलेक्ट्रिफिकेशन का ट्रायल भी हो चुका है।

रेलवे के मुख्य मानचित्र में होगा बिठूर
बिठूर को फर्रुखाबाद रेल लाइन से मिलाने के बाद ब्रह्मावर्त स्टेशन भी रेलवे के मुख्य मानचित्र में होगा। कानपुर से दिल्ली, मथुरा, उत्तराखंड जाने में फर्रुखाबाद तक इलेक्ट्रिक रूट बहुत अहम है। इससे बिठूर जुड़ जाने से पौराणिक नगरी तक लोगों की पहुंच आसान हो जाएगी। यहां के लोग भी सीधे बिठूर से किसी महत्वपूर्ण स्टेशन की ट्रेन पकड़ सकेंगे।

Advertisements