कानपुर: आज देखा जाएगा मोहर्रम का चांद

  • अगर आज होते हैं चांद के दीदार तो कल होगी पहली मोहर्रम गुरुवार को नहीं दिखा चांद तो शनिवार को होगी पहली मोहर्रम

प्रतीकात्मक तस्वीर

कानपुर। इस्लामिक वर्ष के पहले माह मोहर्रम का चांद गुरुवार को देखा जाएगा. मुस्लिम धर्मगुरुओं ने बताया कि यदि गुरुवार को चांद के दीदार होते हैं तो शुक्रवार को पहली मोहर्रम होगी लेकिन यदि गुरुवार को चांद के दीदार नहीं होते हैं तो शनिवार को पहली मोहर्रम मनाई जाएगी.

शहर काजी मौलाना आलम रजा नूरी, शहर काजी मौलाना रियाज अहमद हशमती, शहर काजी हाफिज अब्दुल कुद्दूस हादी ने शहर के सभी लोगों से गुरुवार को ही चांद देखने की अपील की है.

उन्होंने कहा कि चांद देखने के साथ ही सभी लोग उनसे संपर्क कर इस बात की तस्दीक कर सकते हैं कि पहली मोहर्रम कब होगी.

मोहर्रम के चांद के दीदार होते ही मजलिसों आदि का दौर शुरू हो जाता है. यह दौर विशेषकर शिया समुदाय के लोगों द्वारा किया जाता है.

कोरोना महामारी के चलते इस बार प्रशासन सख्त है. कोरोना महामारी के चलते इस बार मजलिसें नहीं होंगी और ना ही कोई अलम जुलूस निकाले जाएंगे.

इसी तरह ना तो घरों में पैकी बनेंगे और न ही पैकियों की गश्त होगी.घरों के अंदर ही लोग ताजिया बनाएंगे. प्रतीकात्मक रूप में इस बार स्थापित होगा.

घर में ही लोग परिवार के साथ मोहर्रम मनाएंगे. महामारी को ध्यान में रखते हुए धर्मगुरुओं और प्रशासन ने यह निर्णय लिया है.