बेरोजगारी के खिलाफ सपाईयों का प्रदर्शन, झड़प के बाद पुलिस पकड़ कर ले गई थाने

Smart News Team, Last updated: 17/09/2020 03:07 PM IST
  • कानपुर के बर्रा इलाके में सपा के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच प्रदर्शन के दौरान झड़प हो गई. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता पीएम मोदी के जन्मदिन पर राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस मना कर सरकार का विरोध कर रहे थे.

कानपुर के बर्रा में सपा कार्यकर्ताओं ने बेरोजगारी के खिलाफ प्रदर्शन किया.

कानपुर. कापुर दक्षिण के बर्रा में सपा के कार्यकर्ता सड़क पर भीख मांग कर प्रदर्शन कर रहे थे. बर्रा स्थित पटेल चौक के पास सपा के कार्यकर्ता दुकानों से कटोरे में भीख मांग कर, ढोलक मंजीरा और थाली पीटकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन और नारेबाजी कर रहे थे. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाने का प्रयास किया तो कार्यकर्ताओं और पुलिस में झड़प हो गई. पुलिस इसके बाद सभी को गाड़ी में भरकर थाने ले आई.

समाजवादी युवजन सभा कानपुर ग्रामीण जिले के अध्यक्ष अर्पित यादव ने बताया कि बीजेपी सरकार नए रोजगार उपलब्ध कराने में असमर्थ रही है और वहीं लॉकडाउन के दौरान सैंकड़ों लोगों की नौकरियां छीन ली गई हैं. वहीं कार्यकर्ताओं ने पांच साल की संविदा और 50 साल की उम्र में रिटायरमेंट देने का भी विरोध किया.

कानपुर में दो बच्चों की मां की हत्या कर लाश को खेत में फेंका, पति हिरासत में

पीएम मोदी के 70 वें जन्मदिन पर सपा के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस मनाया है जिसमें सपाइयों ने ढोलक, मंजीरे और थाली बजाकर सड़क पर प्रदर्शन शुरू किया तो बर्रा थाने की पुलिस ने उन्हें हटाने का प्रयास किया. जिस बीच दोनों में झड़प और धक्का-मुक्की हो गई.

.
.
.

बर्रा इंस्पेक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान नियमों को तोड़कर प्रदर्शन किया जा रहा था. जिसके लिए कार्रवाई की जा रही है. इस मौके पर पूर्व नगर अध्यक्ष प्रवीण सिंह बंटी, आलोक यादव, वरुण मिश्रा, शरद यादव समेत कई लोग मौजूद थे.