वर्षगांठ पर: कन्हैयापुर से कन्हापुर फिर कम्पू और अब कानपुर में बदल गया यह शहर

लेदर इंडस्ट्री, कॉमेडी स्टाइल और पान मसाले के लिए देश-विदेश में मशहूर उत्तर प्रदेश का कानपुर शहर आज 215 साल का हो जाएगा। कानपुर के बर्थ डे के मौके पर आज हम आपको बता रहे हैं इस शहर की कुछ खास बातें… 1803 में 24 मार्च को ईस्ट इंडिया कंपनी ने ऐतिहासिक शहर कानपुर को जिला घोषित…

दूधिया रोशनी से नहाएंगी पांच सड़कें

कानपुर: जीटी रोड की तर्ज पर शहर की पांच और सड़कें एलईडी की दूधिया रोशनी में नहाएंगी। नए साल में इन सड़कों पर लोग एलईडी की रोशनी में चलेंगे। 4.64 करोड़ रुपये से एलईडी लगाई जा रही है। रावतपुर तिराहा जीटी रोड से टाटमिल पुल तक नगर निगम ने तीन करोड़ रुपये से एलईडी लाइट…

यहां रात 12 बजे से शुरू होता है इस डायन का राज, चुड़ैल का वीडियो भी हो चुका है वायरल!

कानपुर. मेट्रो सिटी बनने को ओर तेजी से कदम बढ़ा रहा महानगर अपने में कई रहस्यों को समेटे हुए है। यहां आज भी भूत-प्रेत, डायन, चुड़ैल, आत्मा जैसी चर्चाओं के बाजार हमेशा गर्म रहते हैं। हम आपको बताते हैं कानपुर के एक ऐसे ही अनसुलझे रहस्य

गंगा के नाम पर 28 साल में डकारे 9 अरब

कानपुर : पावन गंगा को साफ करने के नाम पर जिम्मेदार अफसर ‘पाप’ ही करते रहे हैं। गंगा स्वच्छता के प्रति सरकारी तंत्र की बदनीयती को इन आंकड़ों से बेहतर कौन समझा सकता है। किसी न किसी योजना के नाम पर सरकारें पानी की तरह पैसा बहाती रहीं और अधिकारी उसमें भ्रष्टाचार की नाव चलाते…

वार्ड 16: कहां है स्वच्छता अभियान, यहां बस गंदगी-बदबू

जीटी रोड को गंगा बैराज से जोड़ने वाले इस वार्ड में नाले चोक हैं जिससे लोगों का चैन छिन गया है। अंबेडकर मलिन बस्ती में नाला चोक होने से पानी भरा है। सड़ांध के कारण लोगों का जीना दूभर हो गया है। बारिश में बस्ती में जलभराव हो जाता है, लोग घरों में कैद होकर…

बांध पर पानी रोके जाने से गंगा का जल स्तर गिरा

कानपुर: बैराज से गंगा को रोक दिया है रूक-रूक कर डाउन स्ट्रीम की तरफ जल छोड़ा जा रहा है। कम पानी छोड़े जाने के चलते चौबीस घंटे में गंगा का जलस्तर एक फीट दो इंच गिरा है। जलकल विभाग को जलापूर्ति के लिए कच्चा पानी खींचने में मशक्कत करनी पड़ रही है।मंगलवार को भैरोघाट पंपिंग…

अहिरवां एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़ने में जाम से जूझ रहे लोग

अमौसी जाना है आसान:शहर में जाम की समस्या विकराल देखकर लोग कहते हैं कि कल्याणपुर, रावतपुर आदि क्षेत्रों में रहने वालों के लिए अहिरवां हवाई अड्डा की अपेक्षा अमौसी एयरपोर्ट पहुंचना आसान है। गंगा बैराज पुल होते हुए उन्नाव पहुंचने में चार पहिया वाहनों को महज आधा घंटा लगता है और उन्नाव बाईपास से अमौसी…

बैराज से चिड़ियाघर तक एलीवेटेड रोड

कानपुर: गंगा बैराज तक जाने वाले मार्ग पर भविष्य में यातायात का दवाब बढ़ेगा तो जाम की स्थिति होगी। यातायात के दबाव को ध्यान में रखते हुए भविष्य के लिए अभी से ही चिड़ियाघर से बैराज तक एलीवेटेड रोड के निर्माण की संभावना तलाशने की जरूरत है। इसके लिए सर्वे किया जाए। यह आदेश मंडलायुक्त…

गंगा में आए थे गंदी नाली के कीड़े

गंगा में आए कीड़े गंदी नालियों के निकले। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की प्रयोगशाला की जांच रिपोर्ट में कीड़ों की पहचान करने का दावा किया गया है। बताया गया है कि ये कीड़े गंदी नालियों में पाए जाते हैं, खुले में शौच से भी ये कीड़े पैदा होते हैं। यूपीपीसीबी ने लैब की जांच…

संकट में जीवनदायिनी के प्राण

कानपुर : गंगाजल में कीड़े आने से जलकल का खर्च बढ़ गया है। पानी ट्रीट करने और कीड़े मारने को क्लोरीन की मात्र दोगुना बढ़ा दी गई है।दो दिन से गंगा के पानी में लाल रंग कीड़े मिल रहे हैं। तेजी से गिरते जलस्तर के चलते पहले ही कालापन बढ़ा है। इसको ट्रीट करने में जलकल को चार से पांच टन की जगह अब दस टन फिटकरी लगानी पड़ रही है। साथ ही कच्चा पानी खींचने के लिए चार ड्रेजिंग मशीन लगाई गई है।

गंगा हुईं घाटों से दूर, कालापन भी बढ़ा

कानपुर : अभी तो गर्मी ने दस्तक भी नहीं दी और गंगा में पानी कम होने लगा है। पानी कम होने से गंगा में कालापन भी बढ़ गया है। भैरोघाट पंपिंग स्टेशन के पास बालू की मात्र बढ़ने से जलापूर्ति के लिए पानी लेने में समस्या आ रही है। गंगा से पानी खींचने के लिए…

24 घंटे में 9 इंच गिरा गंगा का जलस्तर

कानपुर : तेजी से गिरते गंगा के जलस्तर ने जलकल अफसरों की नींद उड़ा दी है। 24 घंटे में गंगा का जलस्तर नौ इंच गिर गया। जलस्तर कम होने और बालू बढ़ने से कच्चा पानी खींचने को खासी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। जलकल ने चारों ड्रेजिंग मशीन लगा दी है ताकि कच्चा पानी खींचने…

सुंदरवन की तर्ज पर कानपुर में ट्री ट्रांसप्लांट

कोलकाता के प्राकृतिक जंगल सुंदर वन की तर्ज पर कानपुर में भी ट्री ट्रांसप्लांटेशन का कार्य होने जा रहा है। गंगा बैराज के किनारे बनाए जा रहे 127 करोड़ के लोहिया बॉटनिकल गार्डेन प्रोजेक्ट के लिए यह कार्य कोलकाता की जादवपुर यूनिवर्सिटी करेगी।

जमीं पर उतरे तारे अाैर एेसे बदल गया नजारा

इस खूबसूरत नजारे के पीछे देव दीपावली का विशेष उत्सव है। सोमवार रात शहर के घाट दीपों से एेसे जगमगा उठे कि हर काेई इस खूबसूरती काे बिना देखे खुद काे राेक न सका।

कार्तिक पूर्णिमाः लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई ‘आस्था की डुबकी’

कार्तिक पूर्णिमा के उपलक्ष्य में गंगा घाटों के अलावा नदी किनारे मेलों का आयोजन किया गया। इस मेले में हजारों लोगो पहुंचे। इस हाईटेक युग में भी मेलों का क्रेज खत्म नहीं हुआ है लोग बड़ी संख्या में मेलों से खरीददारी कर रहे हैं।

सिंगापुर की तर्ज पर गंगा बैराज के किनारे बनाई जाने वाली मॉडर्न सिटी पर केंद्र की हरी झंडी मिली एनओसी

कानपुर सिंगापुर की तर्ज पर गंगा बैराज के किनारे बनाई जाने वाली मॉडर्न सिटी को केंद्र सरकार ने हरी झंडी दे दी है। प्रोजेक्ट पर एनओसी के साथ ही नई दिल्ली ने पटना के बाढ़ नियंत्रण मुख्यालय के पाले में गेंद डाल दी है। वहां से अब बस औपचारिकता ही बाकी है। केडीए ने 1150 एकड़ में मॉडर्न सिटी बनाने का प्रस्ताव दो साल पहले किया था। प्रस्ताव में कहा गया था कि गंगा नदी अब काफी दूर चली चली गई इसलिए काफी जगह हो गई है जहां मार्जिनल बंधा बनाया जा सके। बंधा बनाकर दूसरी ओर डच सभ्यता वाली सिटी बसाए जाने की योजना है।

खुशखबरी :ड्राइविंग सीट पर बैठकर देखें मूवी, फूड स्ट्रीट में खाएं व्यंजन

कानपुर,  संवाददाता: वह दिन दूर नहीं जब आप गंगा बैराज से गुजरेंगे तो वहां का सुहावना वातावरण देखकर आपका मन बाग-बाग हो जाएगा। घाटों के किनारे खिले फूल, बोटिंग और तैराकी करते लोग, बॉटेनिकल गार्डेन आपको अपनी ओर आकर्षित करेंगे। ऐसे में सुकून के दो पल बिताने को आप जरूर रुकेंगे। गार्डेन के विस्तार के…

गंगा बैराज को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कवायद

कानपुर संवाददाता: गंगा बैराज में जल्द ही बोट क्लब की स्थापना होगी। यहां तैराकी का गुर सीखने के साथ ही लोग मौज मस्ती भी कर सकेंगे। तैराकी का गुर सिखाने और लोगों की सुरक्षा के लिए यहां 37 वीं वाहिनी पीएसी के जवान तैनात रहेंगे। इसके साथ ही उप्र कयाकिंग एवं कनोइंग संघ भी प्रतिभाओं…