2000 जीर्णशीर्ण मकानों में रहने वाले बेपरवाह

कानपुर प्रमुख संवाददाता चमनगंज के तकिया पार्क में ढहे जर्जर मकान के बाद हजारों लोग दहशत में आ गए हैं। उन्हें डर है कि कहीं वे भी हादसे का शिकार न हो जाएं। इसके साथ ही रुक-रुककर हो रही बरसात और कहर बरपा रही है। शहर के दो हजार जर्जर मकानों में रहने वाली आबादी…

शहर भर की ईदगाह व मस्जिदों में ईद-उल-फितर की नमाज में उमड़ा जनसैलाब

कानपुर : शहर भर की ईदगाह व मस्जिदों में सोमवार को ईद-उल-फितर की नमाज में जनसैलाब उमड़ पड़ा। नमाज से पूर्व में गद्दियाना ईदगाह के इमाम मौलाना हाशिम अशरफी ने कहा कि आतंकवादियों के बहकावे में आकर आत्मघाती हमला करने वाले इंसानियत के दुश्मन हैं। ये अच्छी तरह से जान लें कि आत्मघाती हमले करने…

जाम में जकड़ा बेकनगंज बाजार

कानपुर : हर वर्ष रमजान-उल-मुबारक के 15 दिन बीत जाने के बाद बेकनगंज बाजार में हजारों लोगों की भीड़ ईद की खरीदारी के लिए उमड़ती है। ऐसे में बेकनगंज पुलिस रूपम चौराहा से यतीमखाना तक चार पहिया वाहनों पर रोक लगा देती है, लेकिन इस बार पुलिस ने जैसे व्यवस्था से पल्ला झाड़ लिया है।…

नूर की रोशनी में चमकेगा शहर

हलीम चौराहे पर बनाया फतेहपुर सीकरी गेट।
हलीम चौराहा पर आशिकाने रसूल ने फतेहपुर सीकरी का अक्स तैयार किया है। यह देखते ही बनता है। 50 मीटर से ज्यादा इसकी ऊंचाई है। इसी तरह इफ्तिखाराबाद में दुबई की मस्जिद का नजारा देखा जा सकता है। जूही लाल कॉलोनी में भी गेट तैयार किया गया है।

बैंक कैशलेस, टूट रहा धैर्य

महाराजपुर : महाराजपुर स्थित दो बैंकों में रुपये न होने की जानकारी पर लोगों ने मैनेजर सहित कर्मचारियों को बंधक बना लिया। कुछ लोगों ने हाईवे जाम कर नारेबाजी की।

कानपुर मंडल में बंदी बेअसर, सिर्फ रेडीमेड और होजरी बाजार बंद

नोटबंदी के विरोध में भारत बंद का असर कानपुर मंडल में कोई खास नहीं रहा। कानपुर में सिर्फ होजरी और रेडीमेड कारोबारियों ने अपनी पूरी दुकानें बंद रखीं और विरोध जताया।

कानपुर: इफ्तार के बहाने जमीन मजबूत करेगी आप

पार्टी 5 जुलाई को कानपुर के चमनगंज में एक बड़ी इफ्तार पार्टी दे रही है। इसमें संजय सिंह, आशुतोष, जरनैल सिंह, कुमार विश्वास और दिल्ली के कैबिनेट मंत्री असीम अहमद शामिल होंगे। दावत में 10 हजार लोगों को जुटाने का टारगेट रखा गया है। सूबे में इस पार्टी की तरफ से यह अपनी तरह का पहला आयोजन है। पार्टी के अवध प्रांत के प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने कहा कि यह रुटीन प्रोग्राम है और पार्टी जाति-धर्म की राजनीति नहीं करती है।