जीपीएस ‘फेल’ और फिर शुरू ‘खेल’

शहर में सफाई व्यवस्था की लचर स्थिति अब भी बरकरार है, लेकिन खर्च के आंकड़ों में लगातार बढ़ोत्तरी जारी है. नगर निगम द्वारा संचालित कूड़ा वाहनों में डीजल का ‘खेल’ जगजाहिर है. इस पर लगाम कसने के लिए 80 कूड़ा वाहनों पर जीपीएस सिस्टम लगाया गया था. इसकी वजह से लगभग 2 करोड़ रुपए के डीजल की बचत हुई थी. लेकिन जीपीएस लगाने वाली कंपनी से करार खत्म होने के बाद रिन्यूवल नहीं किया गया. जिससे डीजल चोरी का ‘खेल’ फिर से शुरू हो चुका है. दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट के रीडर्स ने कानपुर कॉलिंग पर शिकायत की, जिसके बाद रिपोर्टर ने मामले की पड़ताल की.

Advertisements

फॉगिंग वाली गाड़ियां निकलती हैं तो दिखती क्यों नहीं

मौजूदा समय में यही हाल है शहर के फॉगिंग वाहनों के। शहर में मच्छरों का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है और नगर निगम दावा कर रहा है कि रोज 18 चार पहिया वाहनों और 40 हैंड मशीनों से शहर में फॉगिंग हो रही है। वो भी एक जोन में, जिसमें अमूमन 18 वार्ड होते…

हमारी बनी ‘सरकार’ तो शहर चमकेगा इस बार

शहर की ‘सरकार’ यानी नगर निगम सदन गठित होने में अब बस कुछ ही समय बाकी है। शहर का प्रथम नागरिक बनने को जनता के बीच परीक्षा दे रहे राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों के दावे अगले पांच वर्ष में शहर की सूरत बदलने के हैं। प्रत्याशी जनता के बीच जाकर उन्हें समस्याओं के झंझावतों से…

कानपुर :पानी लेकर सड़क पर निकले धूल दबाने

कानपुर : प्रदूषण बढ़ाने में मददगार हो रही धूल को दबाने के लिए शुक्रवार को कई विभाग पानी के टैंकर लेकर सड़क पर निकले। दरअसल खोदकर छोड़ी गई सड़कों और मलबा राहगीरों और वाहन चालकों के लिए मुसीबत बन गया है। तेज वाहनों के चलने से उड़ती धूल से लोगों का सांस लेना मुश्किल है।…

दिवाली पर केडीए बोर्ड ने दिया बम्पर गिफ्ट

केडीए बोर्ड मीटिंग में 11 प्रपोजल पास, साउथ सिटी में हॉस्पिटल, दो सबस्टेशन, न्यू कानपुर सिटी हाउसिंग स्कीम, नक्शा पास होने का रास्ता साफ -पहली बार एलॉटीज पर मेंटीनेंस और सीवर व वाटर कनेक्शन चार्ज लगाने की केडीए की कोशिशों पर बोर्ड ने फेरा पानी

स्वच्छता में कानपुर 6वें पायदान पर

हिन्दुस्तान और शहरवासियों की मुहिम अब रंग लाने लगी है। ‘मां-कसम हिन्दुस्तान स्वच्छ रखेंगे हम’ की शपथ लेने वाले लोग कानपुर को स्वच्छ शहर बनाने के लिए आगे आ गए हैं। सक्रियता इस कदर बढ़ी है कि ऑनलाइन रैंकिंग में कानपुर देश के 4041 शहरों में छठवें नंबर पर जा पहुंचा है। नगर निगम ने…

#KANPUR : हाय रे महंगाई, MILK #ATM में गाय के दूध की कीमत 60 रूपए

बीते रोज कानपुर आए सीएम योगी आदित्यनाथ ने नगर निगम की कई योजनाओं का शिलान्यास किया था। कुछ की शुरूआत की गई थी। इसमें ही एक नगर निगम का पीपीपी माडल के सहयोग से MILK #ATM है। सीएम योगी ने इस मिल्क एटीएम का उद्घाटन करते हुए इसे आम जनमानस को समर्पित किया था। उन्होंने इस मिल्क…

स्मार्ट सिटी कानपुर में 58 करोड़ से बनेगा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स

कानपुर : स्मार्ट सिटी में शहरवासियों के लिए 58 करोड़ रुपये का स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स बनाया जाएगा। इसमें हर आयु वर्ग के लिए खेलकूद की सुविधाएं होंगी। बृजेंद्र स्वरूप पार्क में आधुनिक सुविधाओं से लैस इनडोर स्टेडियम का निर्माण कराया जाएगा। यहां आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही शहरवासियों के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा…

एक माह बंद रहेगा लखनऊ फ्लाईओवर, होगी मरम्मत

कानपुर : गुरुवार को क्षतिग्रस्त हुए लखनऊ फ्लाईओवर को एक माह के लिए बंद कर दिया गया है। पुल की गुणवत्ता की जांच के लिए आइआइटी से संपर्क किया गया है। सैंपल लेने के बाद क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा।

स्मार्ट सिटी बोर्ड की पहली बैठक

वीआईपी रोड पर बनेगा अपरगामी पुल,महानगर का जलापूर्ति और सीवेज सिस्टम सुधारने पर भी जोर ,मंडलायुक्त ने कहा विकास कार्य ऐसे हों कि जनता सराहना करेमेट्रो रेल परियोजना के निर्माण कार्य में भी तेजी लाने के निर्देश

ऐसे तो घुटता ही रहेगा कानपुर का दम

कानपुर : कूड़ा शहर की आबोहवा और शहरवासियों की मुसीबत बन गया है। कहीं जलता कूड़ा सांसों में जहर घोलने के साथ ही दुर्घटना का कारण बन रहा है तो कहीं कूड़ा गाड़ियां लोगों पर कूड़ा गिराती चल रही हैं। सुप्रीमकोर्ट अफसरों को ताकीद भी कर चुका है लेकिन अफसर हैं कि सुनने को ही नहीं तैयार हैं। स्मार्ट सिटी में शामिल कानपुर अभी तक कूड़े की समस्या से निजात नहीं पा सका है। हालात यूं ही बने रहे तो कानपुर का दम घुटता ही रहेगा।

दो मंजिल की जगह तान दी 6 मंजिला अवैध बिल्डिंग

कानपुर में हुए एक दर्दनाक हादसे ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। आज यहां के चकेरी थाना क्षेत्र के गज्‍जूपुरवा इलाके में बन रही एक मल्‍टीस्‍टोरी बिल्‍िडंग भरभरा कर गिर गई। हादस के बाद वहां चीख पुकार मच गई। इस बिल्डिंग हादसे में वहां काम कर रहे 8 मजूदरों की मौत हो चुकी…

गोविंदपुरी-पुल के सभी गर्डर रखे

कानपुर प्रमुख संवाददाता लंबी जद्दोजहद और भारी दबाव के बीच रेलवे ने सोमवार को गो¨वदपुरी पुल के आखिरी पांच गर्डर रख दिए। दोपहर 12:30 बजे से 2 बजे के बीच कुल 90 मिनट में क्रेन की मदद से सभी पांचों गर्डर चढ़ा दिए गए। रेलवे इंजीनियरों का कहना है कि 31 मार्च तक बाकी बचा…

स्टापेज पर बस नहीं, मिलती सब्जियां

रावतपुर गोल चौराहे से माल रोड तक नो टेंपो जोन कर शहर का सबसे खूबसूरत मार्ग बनाने का ख्वाब अधूरा ही रह गया। स्टापेज पर न तो कोई बस रुकती है और न ही कोई स्टापेज सही सलामत है। किसी स्टापेज पर सब्जी मंडी लग रही है तो किसी पर नाई की दुकान खुली है।9…

नाली-सड़क सफाई परीक्षा की घड़ी आई

कानपुर शहर के 1800 बेरोजगारों के हाथों में आज झाड़ू और फावड़ा होगा। कोई नाली साफ करेगा तो कोई सड़कों पर झाड़ू लगाकर यह बताएगा कि उसे इस काम को करने में कोई दिक्कत नहीं। सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए 3275 संविदा सफाई कर्मियों की भर्ती की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो जाएगी। सबसे…

मोतीझील गायब, बचा सिर्फ जलाशय

  कानपुर : शहर की शान मोतीझील कभी लोगों को आकर्षित करती थी, आज उसी मोतीझील में न तो मोती बचा है और न झील। जब कभी शहर की बात आती थी तो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी मोतीझील को याद किए बगैर नहीं रह पाते थे। आज एक गड्ढानुमा जलाशय है जिसमें भरे कीचड़…

कानपुर नगर निगम की कमाई हफ्तेभर में 650 फीसदी बढ़ी

सरकार के 500-1000 रुपए के नोट बंद करने के फैसले के बाद लोग पुराने नोट खपाने के लिए अपने बकाया कर चुकाने में जुट गए हैं। नतीजा यह है कि कानपुर समेत देश के प्रमुख नगर निकायों की कमाई में हफ्तेभर में 46 गुना तक इजाफा हुआ है। कानपुर नगर निगम की कमाई 650 } बढ़ गई है। इसी प्रकार नई दिल्ली, रांची, मुंबई, पटना, रायपुर, अहमदाबाद, भोपाल, कोलकाता और गुवाहाटी जैसे शहरों के नगर निकायों में राजस्व संग्रहण में भी भारी उछाल देखा गया।

विकास कार्यो में कानपुर को मिला 9वां स्थान

अभी तक 16 वें स्थान पर रहा कानपुर अब विकास कार्यो में 9वें स्थान पर पहुंच गया है। मार्च में कानपुर 41 वें स्थान रहा लेकिन अब उसने रैंकिंग में काफी सुधार कर लिया है। सरकार के विकास एजेण्डा को पूरा करने में कानपुर हर हफ्ते बढ़त हासिल कर रहा है। कानपुर को 199 अंक मिले हैं।

मेट्रो को 9405 करोड़ का लोन

कानपुर : 17092 करोड़ रुपये के मेट्रो प्रोजेक्ट को मूर्त रूप देने के लिए अब 9405 करोड़ का लोन लिया जाएगा। लोन देने को जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (जाइका) और यूरोपियन इंवेस्टमेंट बैंक तैयार हैं। जाइका जहां 1.0 फीसद वार्षिक वार्षिक ब्याज दर पर लोन देना चाहती है तो यूरोपियन इंवेस्टमेंट बैंक 0.5 फीसद वार्षिक ब्याज दर पर लोन देने को तैयार हैं।