शाबाश कानपुर फिर जीता दिल

रूरा हादसे के बाद शहरवासियों ने एक बार फिर एकजुटता दिखाई। सामाजिक संगठन, नागरिक, हैलट प्रशासन और पुलिस-प्रशासन के अधिकारी, सभी घायलों के साथ आ गए। पीड़ितों को दिक्कत न होने पाए, इसकी पूरी तैयारी भी कर ली गई थी। पुखरायां की तरह इस बार भी कनपुरियों ने खूब सेवाभाव दिखाया। सुबह ट्रेन हादसा होने…

प्रभु की खूनी ट्रेन से जमकर लड़ी मर्दानी, परिवार के आठ सदस्यों की बचाई जान

Injured woman saves 8 family members in Indore Patna express accident
महिला ने बताया कि वह अपने परिवार व गांव के 13 सदस्यों के साथ महाकालेश्वर के दर्शन करने के लिए गए थे, लेकिन ट्रेन हादसे ने उनकी सारी खुशियां पलभर में छीन लीं|

ऐसे होगी लापरवाही तो क्यों न होंगे हादसे – हांफ रहा ट्रैक, सो रहा सिस्टम

कानपुर:उदाहरण से इंतजामों को समझने का प्रयास करें तो समझ लीजिए कि ट्रेनों से सफर पूरी तरह सुरक्षित नहीं मान सकते। हादसे तो कई हुए हैं, लेकिन पुखरायां के ताजा दर्दनाक हादसे में जिस तरह से रेलवे की लापरवाही की चर्चा है, वह कई बिंदुओं पर नजर गड़ाने को मजबूर करती है। ऐसा करने पर रावतपुर स्टेशन का ट्रैक बतौर उदाहरण मिल गया। मानक कहते हैं कि डिस्ट्रेसिंग सहित मेंटीनेंस साल में दो बार होना चाहिए, लेकिन आठ माह से मरम्मत न होने की लापरवाही तो कागज भी बयां कर देंगे।

कानपुर के पास पुखरायां में पटना-इंदौर रेल दुर्घटना दुखद. दुर्घटना में मृत लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना

चश्मदीदों के मुताबिक उन्होंने ट्रेन में कुछ अजीब सी आवाज सुनने के बाद इसकी जानकारी टीटी को दी थी, लेकिन उनकी शिकायत को नजरअंदाज किया गया। उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव ने स्वस्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव को दिशा निर्देश देतेे हुए हादसे में घायल सभी यात्रियों के इलाज को सुनिश्चित करने को कहा है।

सोलर लाइटों से जगमग होगा पुखरायां

भोगनीपुर : रात में बिजली कटौती होने पर पुखरायां कस्बा दूधिया रोशनी से जगमगाएगा। गुरुवार को नगर पालिका बोर्ड की बैठक में 50 स्थानों पर सोलर लाइटें लगाने व गर्मी में लोगों को ठंडा पानी उपलब्ध कराने के लिए चार स्थानों पर वाटर कूलर स्थापित कराने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। 1पुखरायां नगर पालिका…